अभी अभी : कॉलर पकड़ कर पीटे गए हमारी सेना के जवान

0
another-unacceptable-act-with-army-soldier-1

indian-army-arrested-12-year-old-boy-near-j-and-k-loc-4

यह घिनौना काम इस समुदाय के लोगो ने किया है जिस समुदाय के लोगो के लिए मासूम शब्द का इस्तेमान करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने देश से बहार निकालने को लेकर रोक लगा दी है | जी हां यह मुस्लिम समुदाय के घटिया और वाहयात लोग है |


खुदगर्ज़ और नीचता से भरे जम्मू कश्मीर के मुसलामानों की सबसे बड़ी समस्या यह है की बाढ़ के समय यह लोग सेना को भगवान् मान कर उनसे खुद को ज़िंदा बचाने की गुहार लगाते है और बाकी साल अपना सबसे बड़ा दुश्मन मान लेते है |

आए दिन सेना जम्मू कश्मीर में मुस्लिम आतंकवादियों को चुन चुन कर कुत्ते की मौत मार रही है | जिसके चलते वह के पथरबाज और देशद्रोही धरना देने और प्रदर्शन करने के लिए बहुत ज्यादा उतारू रहते है |

वैसे तो धरना अपने पक्ष को रखने के लिए किया जाता है लेकिन जम्मू कश्मीर को मुस्लिम समुदाय के लोग हिंसक और घोर हिंसक बना डालते है | अगर उस हिंसा पर सेना कोई कार्यवाही करती है तो मानवाधिकार, मुस्लिम प्रेमी नेता, धर्म के ढेकेदार ऐसे रियेक्ट करते है जैसे उनके बाप को किसी ने लाठी मार दी हो |

another-unacceptable-act-with-army-soldier-2

CRPF के जवानो को पीटता देखकर यही लगता है की यह भारत में राष्ट्रवादी हिंदुवो की परीक्षा ली जा रही है और आने वाले कुछ सालों में हिन्दुवों को या तो म्यांमार बनाना पड़ेगा या फिर भारत का एक और हिस्सा धर्म के आधार पर दान करना पड़ेगा |


प्रदर्शन के नाम पर सेना के ज्वालों के कॉलर पकड़ पकड़ कर पीटना सच में खून खौलाने वाला वीडियो है | आपको बताना चाहेंगे की जम्मू कश्मीर में पहले तो धरने के नाम पर नागरिकों ने सुरक्षा ली और फिर उन्ही सेना के जवानो को जो सुरक्षा कर रहे थे पीटना शुरू कर दिया |

अचानक से शुरू की गयी इस वारदात में सेना का एक जवान गंभीर रूप से जख्मी है, इस जवान की हालत इतनी नाजुक है की इसे एयरलिफ्ट कर तुरंत से तुरंत श्रीनगर के आर्मी हॉस्पिटल लाया गया | बताया जा रहा है की जब पुलिस ने मौके पर पहुँच कर हालात काबू पाना चाहा तो उनपर भारी पथराव किया गया |

आपको याद है पैलेट गन्स का इस्तेमाल तब हिंसा लगभग वह रूक गयी थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट और मानवधिकार वालों ने ऐसे रियेक्ट किया जैसे उनके जमाई की आँखों में गोलियां मारी हो और उसके इस्तेमाल पर बन लगा दिया | मैं उस वाहियात जज जो चैलेंज देता हु की बिना सुरक्षा के 1 दिन उस पथराव के बीच रह कर दिखा दे |

उसके बाद भी अगर वो पैलेट गन्स के इस्तेमाल पर रोक लगाता है तो मैं प्रतीक मल्होत्रा उसकी रोक का समर्थन देने के लिए त्यार हूँ | इसको इतना शेयर करें की रोक लगाने वाले जज की आँखे खुल जाये |

इस दिवाली पटाखे जरूर जलाये बस मुसलमानो की झोंपड़ियों की तरफ राकेट बिलकुल न दागे समझ गए न आप सब |

You May Also Read
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here