अशोक ने अदालत में कहा मैं निर्दोष, इस शख्स ने दिए थे 25 लाख रुपए

0
ashok-said-in-the-court-that-i-was-innocent-1

ashok-said-in-the-court-that-i-was-innocent-2

हम आपको बताने जा रहे गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल में 8 सितंबर को हुए वह पर पढ़ने वाले एक विद्यार्थी प्रद्युम्न की हत्या को लेकर नया मोड़ आ गया है | प्रद्युम्न की हत्‍या के आरोप में गिरफ्तार हुए गए कंडक्‍टर (अशोक कुमार) को हरियाणा पुलिस ने 18 सितम्बर सोमवार को कोर्ट में पेश किया | इसी दौरान कंडक्टर अशोक कुमार ने कोर्ट में जज के सामने यह बयान देकर, वहां खड़े सबके सब लोगो के रोंगटे खड़े हो गए | हरियाणा पुलिस के चेहरे के रंग उड़ चुके थे उसका यह ब्यान सुनकर आपको बता दे की पूरे देश और मीडिया के सामने मासूम विद्यार्थी प्रद्युम्न की हत्‍या का गुनाह कबूल करने वाले कंडक्टर अशोक कुमार ने 18 सितम्बर सोमवार को कोर्ट में अपने गुनाव से मुकर गया |


आरोपी कंडक्टर अशोक ने गुरुग्राम के ही एक स्थानीय अदालत में अपनी पेशी के दौरान कहा कि वो बिल्‍कुल निर्दोष है ओर आरोपी कंडक्टर अशोक के वकील ने मीडिया में कहा की अदालत में दिया गया बयान ही असल में मायने रखता है | उधर दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद गुरुग्राम की स्थानीय दालत के जज ने अशोक कुमार को 29 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में और पूछ-ताछ के लिए रखा है | बात यही ख़तम नहीं हुई अदालत में पेशी के बाद आरोपी कंडक्टर अशोक के वकील मीडिया में ब्यान देते हुए कहाँ पुलिस ही अशोक कुमार को फंसा रही है |

आरोपी अशोक कुमार के वकील ने बताया कि पुलिस ने अशोक को पहले दो दिन के लिए बिलकुल चुप रहने को कहा था जिसके बाद उसे छोड़ने का वादा किया था | वकील ने कहा की कंडक्टर अशोक के कपड़ों पर बच्चे के खून के निशान घटना के बाद उसे गोद में उठाने के बाद ही लगे थे और उस समय भी उसके पास कोई चाकू नहीं था | अशोक के वकील ने मीडिया से बातचीत में तो यहां तक दावा कर दिया है कि अशोक कुमार को जुर्म कबूलने के लिए 25 लाख रूपए का ऑफर भी किया गया था 18 सितम्बर सोमवार को सुनवाई के दौरान स्थानीय अदालत ने अशोक कुमार को न्‍यायिक हिरासत में भेजने के साथ ही स्कूल के नॉर्थ जोन के प्रमुख फ्रांसिस थॉमस तथा एचआर प्रमुख जियूस थॉमस की जमानत याचिका को भी सिरे से खारिज कर दिया है | इन दोनों को भी अशोक कुमार के साथ 29 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में आगे की पड़ताल और पूछताछ के लिए भेज दिया गया है |

solve-the-mystery-of-the-murder-of-the-pradyumna-after-leaked-audio-tape-3

अब तक बदले गए बयानों पर एक नज़र :-

18 सितम्बर सोमवार को आरोपी अशोक कुमार के वकील ने दावा किया कि उसके पास किसी प्रकार का कोई चाकू नहीं था, जबकि अशोक कुमार ने ही सबसे पहले खुद के पास चाकू होने की बात को स्‍वीकारी किया था |


सबसे पहले अशोक कुमार ने अपने बयान में कहा गया था कि मैंने चाकू बस के टूल किट से निकाला था, लेकिन उसके ठीक बाद में बस के ड्राइवर ने खुलासा किया कि टूल किट में हम कोई भी चाकू नहीं रखते इसके बाद अशोक कुमार ने यह दावा किया कि चाकू उसने आगरा शहर में एक छोटी सी दुकान से खरीदा था |

मासूम विद्यार्थी प्रद्युम्न की हत्‍या के आरोपी माने जाने वाले कंडक्‍टर अशोक कुमार का 17 सितम्बर रविवार को मेडिकल चेकअप भी कराया गया था | डॉक्‍टरों ने अपनी जांच की रिपोर्ट में कहा है की कंडक्टर अशोक के शरीर में किसी प्रकार की कोई नशे की दवा नहीं मिली और न ही शरीर पर किसी तरह का कोई मारपीट का निशान मिला हैं |

लेकिन हाल ही में ही अशोक के वकील और उसकी पत्‍नी और भाभी ने बहुत ही हैरान करने वाला खुलासे किये है | कंडक्टर अशोक कुमार की भाभी ने यह दावा किया था कि जब वह जेल में अशोक कुमार से मिली तो उसने बताया था कि उसे नशे के इंजेक्‍शन देकर झूठ बुलवाया गया था और मीडिया के सामने अपना जुर्म कबूल करने का बहुत ज्यादा दबाव डाला गया था |

वैसे तो SIT जांच कर रही है और हरियाणा सरकार ने भी CBI जांच के लिए केंद्र से सिफारिश कर दी है और स्कूल से भी जवाब माँगा गया है अगर स्कूल का मैनेजमेंट संतुष्टि भरा जवाब देने में नाकाम रहा तो स्कूल की मान्यता रद्द करने का भी फैसला हरियाणा सरकार कर चुकी है |

प्रद्युम्न हत्‍याकांड : CCTV फुटेज का चौंकाने वाला सच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here