मोटापे से परेशान लोग अपनायें आयुर्वेद का यह फार्मूला

0
ayurveda-formula-for-weight-loss-2

ayurveda-formula-for-weight-loss-1

हम जब भी खाना खाते है हमें उसके कम से कम टेढ़ घंटे बाद पानी पीना है वो भी गुनगुना या फिर ताज़ा पानी | लेकिन इसके साथ ही न तो पानी मुँह ऊपर करके गिलास या बोत्तल से गट-गट करके पीना है और न ही सीधा एक ही बार में पीना है |




अगर आप इन दो तरीको से पानी को पीते है तो आपको आज या कल यह तीन रोग पक्का आने वाले है | जिसमे पहला रोग है (Appendicitis), दूसरा रोग है (हर्निया) आंतो का उतर जाना, तीसरा रोग है (Hydrocele) | यह रोग उनके जीवन में जरूर आते है जो एक साथ गट गट पूरा गिलास बोत्तल या फिर लोटा पानी का घटम कर लेते है |

हर्निया और ऍपेन्डेंस मर्दो और माताओं दोनों को हो जाती है लेकिन Hydrocele केवल मर्दो की बिमारी है जो एक उम्र के बाद ही आती है | यह सब पढ़कर आपके मन में सवाल आ रहा होगा की फिर हमको पानी कैसे पीना चाहिए | तो मैं आपको भाई राजीव दीक्षित के द्वारा बताया गया आयुर्वेद का तरीका बताने जा रहा हूँ |

ayurveda-formula-for-weight-loss-4

आयुर्वेद में पानी पीना का बिलकुल सही तरीका है जिस प्रकार आप चाय, कॉफ़ी, गर्म दूध आदि पीते है | अगर आप गुनगुना पानी या ताज़े पानी को सिप-सिप करके पीते है तो आयुर्वेद के हिसाब से आपको कभी मोटापा नहीं आएगा और आपका जितना वजन होना चाहिए आपकी हाइट और उम्र के हिसाब से उतना ही रहेगा |

पानी हमेश गुनगुना या फिर ताज़ा ही पिये बेहद गर्म और फ्रिज का ठंडा पानी सेहत के लिए हानिकारक होता है | अगर आप सोच रहे है की मेरा वजन तो पहले से ही बढ़ा हुआ है अब मैं क्या करूं तो आप निश्चिन्त रहिये इस कीर्या से 7 से 8 महीने में आपका वजन 10 किलोग्राम तक कम हो जायेगा |

ayurveda-formula-for-weight-loss-3

वजन धीरे-धीरे बढ़ता है और कम भी धीरे-धीरे ही होगा अगर आप जल्दी से वजन कम करने के लिए आयुर्वेद के बिना दवाई ले रहे है तो आपका वजन कम नहीं होगा बल्कि कुछ हानियाँ आपके शरीर को जरूर हो सकती है |

सिप-सिप करके पानी पीने से आपका वज़न आपकी उम्र और हाइट के हिसाब से लेवल पर आकर स्थिर तो होगा ही साथ में अगर किसी को एड़ी का दर्द, जोड़ो का दर्द, सर दर्द या फिर खांसी की शिकायत है तो उसे भी इसका लाभ एक महीने में दिखना शुरू हो जायेगा |

अगर आपको समझ नहीं आया तो आपको बता देता हूँ पहला खाना खाने के टेढ़ घंटे बाद पानी पीना है, दूसरा पानी ताज़ा या फिर गुनगुना होना चाहिए, तीसरा आपको पानी घूंट घूंट करके पीना है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here