देवी माँ दुर्गा को भद्दी गाली देने वाले DU प्रोफेसर का लोगों ने किया बुरा हाल

1
du-professor-kedar-mandal-post-on-maa-durga-1

du-professor-kedar-mandal-post-on-maa-durga-2

दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक दो कौड़ी के असिस्टेंट प्रोफेसर ने देवी मां दुर्गा को लेकर सोशल मीडिया साइट ट्वीटर पर ऐसा ट्वीट और फेसबुक पोस्ट किया, जिसकी पुरे देश भर में अलोचना हो रही है | वही दूसरी और बीजेपी से संबद्ध नेशनल डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट ने दयाल सिंह कॉलेज में पढ़ाने वाले सहायक प्रोफेसर केदार कुमार मंडल के खिलाफ कल पुलिस ठाणे में भी शिकायत दर्ज करवा दी है |


इस विवादास्पद फेसबुक पोस्ट और ट्वीट शुक्रवार की शाम 7 बजकर 43 मिनट पर डाला गया था, लेकिन बाद में माहौल गर्माता देख इसे हटा लिया गया | वही पुलिस ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया की भारतीय दंड संहिता की धाराओं 153 ए और 295 ए के तहत इस मामले को दर्ज़ किया गया है | भारतीय सविंधान में ये धाराएं भड़काऊ भाषण कानून के तहत आती हैं और मामले की गंभीरता को देखते हुए इसमें तीन से पांच साल तक की जेल या जुर्माना या दोनों सजाएं एक साथ हो सकती हैं |

हिन्दू देवी मां दुर्गा पर शर्मनाक और अभद्र टिप्पणी करने की वजह से मंडल छात्र हिन्दू संगठनों के सीधा निशाने पर आ गया है, और ऐसा होना भी चाहिए | एबीवीपी और एनएसयूआई दोनों ने डीयू प्रशासन से प्रोफेसर को बर्खास्त करने की आवाज़ उठायी है |

इस ट्वीट और फेसबुक पोस्ट पर लोदी रोड पुलिस स्टेशन में दर्ज़ करायी गयी शिकायत में नेशनल डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट ने यह भी लिखा है कि देवी माँ दुर्गा पूजा जैसे पावन त्योहार के समय प्रोफेसर केदार कुमार मंडल द्वारा आपत्तीजनक टिप्पणी सोशल मीडिया अकाउंट ट्वीटर और फेसबुक पर डाली गई है | वैसे तो यह मामला हिन्दुवों की धार्मिक भावनाओं से जुड़ा है, लेकिन इस समय में इस पोस्ट से हिंदुवो को भड़काने की कोशिश हुई है | इस एक पोस्ट से देश में किस तरह का माहौल पैदा करने की साजिस रची जा रही है, उसे आसानी से समझा जा सकता है | इसलिए प्रोफेसर केदार कुमार मंडल के खिलाफ इस मामले के कार्यवाही प्राथमिकी हो और उचित से उचित कानूनी कार्रवाई की जाए |

du-professor-kedar-mandal-post-on-maa-durga-3

भाजपा के छात्र संगठन एबीवीपी ने दो कौड़ी के केदार मंडल को लेफ्ट की विचारधारा का समर्थन करने वाला बताया है, एबीवीपी की माने तो दो कौड़ी का यह इंसान प्रोफेसर की वेश में वामपंथी दलालों का एजेंट करार दिया गया है | दो कौड़ी का प्रोफेसर मंडल ने ऐसे विवादित ट्वीट और फेसबुक पोस्ट कर डीयू का माहौल खराब करने की भरपूर कोशिश की है जिसके बाद से प्रोफेसर मंडल के खिलाफ बर्खास्त करो का मोर्चा खोल दिया गया है |

वहीं दूसरी और छात्र संगठन एनएसयूआई ने भी एबीवीपी के साथ सुर में सुर मिलाया | डूसू के अध्य्क्ष रॉकी तुसीर ने भी केदार मंडल पर हिंदूओं की धार्मिक भावनाओं को जानभूझ कर आहत करने लिए उन पर सख्त क़ानूनी कार्रवाई करने के साथ-साथ डीयू प्रशाषन से केदार मंडल को जल्द से जल्द बर्खास्त करने की मांग की है |

1 COMMENT

  1. But if he has removed it from twitter and face book, then why again proceed against him? I don’t see any point except vengeful attitude which is not warranted here. Obviously he realized his mistake and removed those. If he in future repeats then strict action can be demanded. Nobody says here that he used to post such things in the past also or some complaints were made against him in the past too. So, I think one should not proceed against him any further and that professor can also deliver a formal apology to the public.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here