10 रूपए में हो सकते है आयुर्वेदिक तरीके से शरीर के सभी मस्से गायब

1
in-ayurvedic-way-all-the-body-wart-disappeared-1

in-ayurvedic-way-all-the-body-wart-disappeared-3

वैसे तो देखा जाये तो मस्से बहुत सारे लोगो के लिए परेशानी का विषय है अगर तो यह किसी ऐसे हिस्से पर हो जहा लोगो का ध्यान नहीं जाता तो लोग इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचते, लेकिन अगर यही मस्से गर्दन के ऊपरी हिस्से हाथ या फिर चेहरे पर हो तो लोगो के लिए यह चिंता का विषय बन जाते है |


यह मस्से किसी को भी देखने में अच्छे नहीं लगते, कुछ मामलो में यह मस्से कैंसर तक का रूप धारण कर लेते है | इसलिये इनको हटाना आपकी ख़ूबसूरती के लिए नहीं बल्कि सेहत के लिए भी बहुत जरुरी है | अगर आपको जन्म से ही मस्से है तो यह आपकी सेहत के लिए बहुत हानिकारक है और अगर जन्म के बाद मस्से हुए है तो आपको बताना चाहेंगे यह समय बीतने के साथ साथ कैंसर के खतरे को बढ़ा देते है |

अगर यह मस्से किसी भी इंसान को 30 वर्ष से बाद होने लगे तो कैंसर का ख़तरा बहुत अधिक बढ़ जाता है | अगर शरीर के किसी भी हिस्से के मस्से के अंदर आपको खुजली महसूस होती है या फिर उसमे से खून निकलता है तो आपको बिलकुल भी उसे नज़र अंदाज नहीं करना चाहिए |

इस स्थिति में आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए आज के समय में कैंसर बहुत समान्य सी बिमारी बन रही है इसलिए किसी डॉक्टर से मिलकर सलाह लेने और इलाज़ कराने में देरी नहीं करनी चाहिए |

in-ayurvedic-way-all-the-body-wart-disappeared-4

मस्से को फोड़ना या काटना नहीं चाहिए :-

हम आपको बताना चाहेंगे की मस्से को कभी काटना या फोड़ना नहीं चाहिए | यह एक वायरस के चलते हमारे शरीर पर होते है | अगर हम इनको काट देते है या फिर खुद ही फोड़ लेते है तो यह वायरस हमारे शरीर के अन्य हिस्से में फैलने के खतरे को और बढ़ा देता है | जिसके बाद आपको शरीर पर और मस्से भी हो सकते है या एक वायरस होने के कारण एक इंसान से दूसरे इंसान को भी हो सकता है |


मस्से होने के मुख्या कारण :-

शरीर पर मस्से होना एक तरह से इंसानी चमड़ी रोग है यह सरसों के बीज के अकार से लेकर बेर के आकार तक हो सकते है | मस्से ‘विषाणु संक्रमण’ के चलते होते है जो की ‘मानव पेपिल्लोमैवीरस’ नाम के विषाणु की प्रजाति के कारण होते है | इंसानी त्वचा पर पेपीलोमा वायरस के कारण छोटे छोटे कठोर और खुरदरे से पिंड बन जाते है जिसे हम मस्से कहते है |

मासे दो रंगो के होते है काले और भूरे, लेकिन यह 8 से 12 प्रकार के हो सकते है | कुछ मस्से ऐसे होते है की अपने आप शरीर से कुछ समय बाद निकल जाते है कुछ मस्सो का इलाज़ करवाना पड़ता है |

in-ayurvedic-way-all-the-body-wart-disappeared-4

मस्से को दूर करने के लिए अपनाये आयुर्वेद द्वारा घरेलु और अचूक उपाय :-

मस्से को दूर करने के लिए आयुर्वेद में प्याज का जिक्र किया गया है | प्याज हमारे शरीर के लिए हर तरह से फायदेमंद साबित होता है वही मस्सों के लिए यह रामबाण इलाज़ है | मस्से को जड़ से हटाने के लिए आयुर्वेद में लिखा गया है की प्याज के रस को मस्से के ऊपर 20 से 30 दिनों तक लगाए |

साथ में हर रोज़ कुछ समय निकाल कर प्याज को मस्से के ऊपर रगड़े यह उपाय आपको पुरे 20 से 30 दिनों तक करना है रात को सोने के वक़्त रस को मस्से के ऊपर लगाना है और सुबह उठकर प्याज के टुकड़े को मस्से पर रगड़ना है और यह रगड़ने वाली प्रक्रिया आपको दिन में 2 से 3 करनी है |

प्याज मस्से के वायरस को जड़ से ख़तम कर देता है जिसके बाद आपका माजूदा मास्सा तो शरीर से हट ही जायेगा साथ में किसी दूसरी जगह पर फैलने के खतरे को भी पूरी तरह से ख़तम कर देगा |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here