राहुल ने बताया मनमोहन सिंह को कितना वक़्त नोटेबंदी के सदमे से उबरने का लगा था

0
rahul-told-how-much-time-manmohan-singh-had-to-recover-from-the-demonetization-1

rahul-told-how-much-time-manmohan-singh-had-to-recover-from-the-demonetization-3

जैसा की आपको मालुम है राहुल गाँधी अपने बेतुक्के बयानों की वजह से अपनी खिल्ली सोशल मीडिया पर उड़ाते रहते है | राहुल गाँधी का पार्टी में होना वंशवाद का नतीजा है वर्ना अपने दम पर वो चपरासी की नौकरी भी न ले पाए |


चुनावी रैलियों के दौरान अपना फटा कुर्ता दिखाते है, विदेशों में सूट बूट पहनते है, पेट्रोल महंगा होने की वजह से जहा राहुल गाँधी गुजरात में बैलगाड़ी से सफर करते है वही उनकी माँ सोनिआ गाँधी उसी समय में प्राइवेट जेट में गोवा चले जाती है |

वैसे तो राहुल गाँधी को पप्पू के नाम से भी जाना जाता है लेकिन एक जमीनी कांग्रेस नेता ने हार के बार उन्हें पप्पू कह दिया था, एक जमीनी कांग्रेस नेता ऐसा भी था जिसने कहा था की गधे को कभी घोडा नहीं बनाया जा सकता | दोनों को जिसके बाद पार्टी से बहार कर दिया गया था |

लेकिन हक़ीक़त यही है की राहुल गाँधी खुद ऐसी हरकत करते है की उनका मज़ाक बन जाता है | आपको बता दें राहुल गाँधी ने अब एक और बेतुका ब्यान दें दिया है, उन्होंने कहा जब नोटेबंदी की खबर पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह को लगी तो उनको इस सदमे में उभरने में 20 सेकंड लग गए थे |

rahul-told-how-much-time-manmohan-singh-had-to-recover-from-the-demonetization-4

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 8 नवंबर 2016 को नोटेबंदी का यह वाकया 27 सितम्बर को राहुल गाँधी ने गुजरात के कपडा व्यापारियों ने सुनाया था | राहुल गाँधी ने बोला प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा नोटेबंदी की घोषणा के 2 मिनट बाद उन्होंने मनमोहन सिंह को फ़ोन किया |

पूर्व प्रधान मंत्री को इस नोटेबंदी की जानकारी नहीं थी उन्होंने ही सबसे पहले मनमोहन सिंह को इस घटना से अवगत करवाया | राहुल कहते हैं, ‘ दूसरी तरफ फोन पर पूरा सन्नाटा था, मैंने कई बार हेलो बोला, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। 20 सेकेंड के बाद के मनमोहन सिंह ने कहा मैं उस झटके से उबर रहा हूं जो आपने अभी हमें बताया।’

वंशवाद को लेकर अभिषेक ने दिया राहुल को मुँह तोड़ जवाब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here