इस्लामिक बैंक को लेकर RBI ने दिया विवादीद ब्यान

0
rbi-reject-islamic-banking-system-in-india-1

rbi-reject-islamic-banking-system-in-india-2

आपको बताना चाहेंगे की मनमोहन सिंह की सरकार भारत में एक इस्लामिक बैंक बनाना चाहती थी | जिसके समर्थन में पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भी थे | लेकिन सरकार 2014 में गिर गयी जिसके चलते आगे इसपर कार्यवाही नहीं हुई और बाद में रघुराम राजन का कार्यकाल भी समाप्त हो गया |


भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने भारत जैसे देश में शरिया कानून के तहत बैंक खोलने की संभावना को सिरे से नकार दिया है | भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) का कहना है की हम अब इसपर आगे कोई कार्यवाही न करते हुए देश में ऐसा कोई बैंक नहीं खोलेंगे |

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) में एक अज्ञात वयक्ति ने सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत इस सवाल को पूछा था | भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने जवाब देते हुए कहा की भारत में बैंक सेवाएं और अधिकार सब धर्मों के लिए समान रहेंगे, हम विशेष धर्म के आधार पर कोई बैंक नहीं खोलेंगे |

rbi-reject-islamic-banking-system-in-india-3

अगर आपको नहीं पता की इस्लामिक बैंक क्या होता है तो आपको बताना चाहेंगे की इसमें केवल मुसलमान ही अपना खाता खोल सकेंगे | इस्लामिक बैंक में पैसे जमा करने और लोन लेने पर ब्याज नहीं लगता क्योंकि इस्लमाम में ब्याज हराम है |

भारत जैसे देश जहा हर धर्म को समान अधिकार देने की बात कही जाती है, वह कांग्रेस अपने वोट बैंक को और मजबूत करने के लिए अलग से इस्लामिक बैंक बनाने की त्यारी में थी | आपको जानकार हैरानी होगी की पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने ऐसे बैंक खोलने के लिए सबसे ज्यादा जोर दिया था |

You May Also Read
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here