राष्ट्रपति चुनाव: मीरा कुमार को लेकर विपक्ष में दरार

0
split-in-opposition-over-president-polls-meira-kumar

split-in-opposition-over-president-polls-meira-kumar-3

आज 22 जून को विपक्ष की अहम बैठक होने जा रही है लेकिन इससे पहले ही विपक्षी पार्टियों में दरार नज़र आने लगी है | जदयु ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए भाजपा के उमीदवार राम नाथ कोविंद को अपना समर्थन देने के बाद साफ़ कर दिया है की वो आज की इस बैठक में शामिल नहीं होंगे |




विपक्षी खेमे ने अभी तक अपने किसी उमीदवार की औपचारिक घोषणा नहीं की है लेकिन मीरा कुमार के बार बार सोनिआ गाँधी से मिलने की खबरों से साफ़ जाहिर होता है की विपक्षी खेमे में मीरा कुमार आगे चल रही है |

कांग्रेस और गैर राजग दलों के बड़े नेताओ में कल काफी विचार किया गया की किस तरह से विपक्षी खेमे को एकजुट रखा जाये | कांग्रेस के नेता का कहना है की उम्मीद यही है की जो लोग 25 मई को सोनिआ गाँधी के भोज में शामिल हुए थे वो आज की बैठक में भी शामिल होंगे |

split-in-opposition-over-president-polls-meira-kumar-1

राष्ट्रपति के चुनाव 17 जुलाई को होने है और वाम नेता का कहना है की कुछ भी हो हम चुनाव लड़ कर रहेंगे | वही कांग्रेस अध्यक्ष मनीष तिवारी का कहना है की आज की बैठक में हम बाकी दलों की सहमति से राष्ट्रपति के नाम की प्रक्रिया को पूरा करेंगे |

आपको बता दे की पिछले कुछ समय से बहुत सारी पार्टियां दलित राजनीति कर रही थी और भाजपा ने दलित होने के साथ साथ पढ़े लिखे और योग्य रामनाथ कोविंद का नाम सामने रख कर सबको धर्म संकट में दाल दिया है | अब अगर वो इनके खिलाफ वोट करेंगे तो लोग कहेंगे यह दलित विरोधी है और अगर वोट करेंगे तो भाजपा का राष्ट्रपति बनेगा |

split-in-opposition-over-president-polls-meira-kumar-2

जदयू के साथ साथ मायावती भी पहले ही कह चुकी है की दलित होने के कारण मेरा समर्थन राम नाथ कोविंद को रहेगा लेकिन अगर कांग्रेस उनसे योग्य दलित को राष्ट्रपति का उमीदवार मैदान में उतारती है तो वो विपक्ष का समर्थन करेंगे |

अगर देखा जाये तो कांग्रेस की दो बड़ी पार्टियां जदयू और बसपा भाजपा का समर्थन कर चुकी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here