राम मंदिर को लेकर तारेक फ़तेह का सनसनी ब्यान

0
tariq-fateh-gave-shocking-statement-on-ram-temple-1
Loading...

tariq-fateh-gave-shocking-statement-on-ram-temple-2

पाकिस्तान में जन्मे मशहूर लेखक और इस्लामिक विद्वान तारेक फ़तेह साहब, यह वैसे तो मुसलमान है लेकिन खुद को भारतीय और हिन्दू मानते है | उनका कहना है की मेरे पूर्वज हिन्दू थे इसलिए मैं यह नहीं सकता की मैं हिन्दू नहीं हूँ |

अब तारेक फ़तेह साहब ने बाबर समेत तमाम इतिहासकारों और कट्टरपंथियों पर हमला बोल दिया है | तारेक फ़तेह साहब ने बाबरी मस्जिद का समर्थन करने वाले लोगो से कहा की एक विदेशी अकर्मणकारी, बलात्कारी आतंकवादी को अयोध्या में राम जन्म स्थल पर मस्जिद बनाने की इजाजत दी किसने थी ?

तारेक फ़तेह साहब ने यह भी कहा अगर मान लो बाबर ने मंदिर नहीं तोडा था तो फिर किसने तोडा था राम मंदिर ? अगर वह मंदिर था ही नहीं तो उस जमीन पर मंदिर के अवशेष कहा से आये ? अगर वो एक ख़ाली जगह भी थी तो उस ख़ाली जगह पर मस्जिद बाबर ने किससे पूछकर बनाई ?

अगर उसने मस्जिद बनाने के लिए जमीन वह के राजा या प्रजा में से किसी से खरीदी थी तो कौन, विदेशी अकर्मणकारी को अपनी जमीन बेचेगा ? तारेक फ़तेह साहब ने कहा असलियत ही यही है की वो मस्जिद कभी थी ही नहीं |

tariq-fateh-gave-shocking-statement-on-ram-temple-3

बाबर एक विदेशी हमलावर था जिसे भारत के बेवकूफ मुसलमान अपना पीर मान रहे है | असल में जब बाबर भारत आया तो हिन्दू राजाओं की आपसी फुट के कारण उससे कुछ चुनिंदा राजाओं ने ही युद्ध किया और बाबर अयोध्या तक पहुँचने में कामयाब हुआ | जहा पर उसने भाग्य श्री प्रभु राम का मंदिर धवस्त करके अपने नाम की मस्जिद बनवा दी |

1992 कारसेवकों ने बीजेपी के राज में उत्तर प्रदेश अयोध्या में इस कलंक को हटा दिया और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने सरकार गिरवा दी दुबारा चुनाव हुए तो मुर्ख हिंदुवो ने दुबारा बीजेपी को वोट ही नहीं दिया और राम मंदिर का मामला आज तक सुप्रीम कोर्ट में लटका पड़ा है जिसे कांग्रेस 2019 चुनाव तक लटकाना चाहती है |

अगर राम मंदिर का मामला 2019 चुनाव तक लटका तो कांग्रेस हिंदुवो से कहेगी बीजेपी ने किया वादा पूरा नहीं किया और फिर से मुर्ख हिन्दू कांग्रेस को वोट दे देगा | उसके बाद अगर राम मंदिर के पक्ष में फैसला आया भी तो कांग्रेस अध्यादेश लेकर कोर्ट का फैसला पलट देगी |

आप समझ दार है जिस कांग्रेस ने बाबरी मस्जिद के समर्थन में अपना वकील सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से उतारा हुआ है वो प्रभु राम का मंदिर कैसे बनवा सकती है ? यह काम बीजेपी ही करेगी उसके राज में ही होगा बस बात यह है की सुप्रीम कोर्ट फैसला कितनी तेजी से लेती है |

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here