इनकम टैक्स रिटर्न भरते वक़्त न करें यह दस गलतियां

top-10-common-mistakes-while-filling-income-tax-return-1

इनकम टैक्स रिटर्न भरने का महीना यानी जुलाई आ गया हैं और 31 जुलाई से पहले आपको अपना इनकम टैक्स भरना होता हैं | लेकिन इनकम टैक्स भरने के समय छोटी छोटी गलतियों के कारण एप्लीकेशन रिजेक्ट हो जाती हैं | यह समस्या ज्यादातर पहली बार रिटर्न भरने वाले व्यक्ति को आती हैं, तो आईये जानते हैं हम किस तरह से इन गलतियों से बच सकते हैं |




पहली गलती : अंतिम तारीख़ का इंतजार करना
उपाय : हम में से ज्यादातर लोग इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए अंतिम तारीख़ का इंतजार करते हैं | अंतिम तारीख़ में रिटर्न फाइल करने पर जल्दबाजी में गलती का होना संभाविक हैं और अंतिम तारीख़ होने के कारण आपको अपनी गलती सुधारने का वक़्त भी नहीं मिलेगा इसलिए अंतिम तारीख़ का इंतजार न करें |

दूसरी गलती : रिटर्न भरने के बाद ऑनलाइन वैरिफिकेशन में देरी करना
उपाय : रिटर्न भरने के बाद ऑनलाइन वैरिफिकेशन कराना बहुत जरुरी हैं | रिटर्न की प्रकिर्या तब तक पूरी नहीं होती जब तक आप वैरिफिकेशन नहीं करवाते | वैरिफिकेशन के लिए आप आधार कार्ड, डीमैट अकाउंट और बैंक अकाउंट की डिटेल देकर ओटीपी जनरेट करना होगा जिससे आपकी रिटर्न की प्रकिर्या पूरी हो जाएगी |

तीसरी गलती : गलत व्यग्तिगत जानकारी के साथ रिटर्न का फॉर्म भरना
उपाय : ऑनलाइन रिटर्न भरने से पहले आपको आयकर विभाग की वेबसाइट पर साइन अप करना होगा | इस प्रकिर्या में आपको सारी डिटेल बिलकुल सही भरनी हैं जैसे नाम, जन्म की तिथि, पिता का नाम आदि यह थोड़ा जटिल काम हैं लेकिन ध्यानपूर्वक करे ताकि भविष्य में किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े |

top-10-common-mistakes-while-filling-income-tax-return-2

चौथी गलती : अपने बैंक की गलत जानकारी मुहैया करवाना
उपाय : अगर आप रिटर्न भरते समय किसी प्रकार के रिफंड की डिटेल नहीं भर रहे तो भी आपको अपने बैंक की सही जानकारी उपलब्द करवानी चाहिए जिसमें बैंक का नाम, खाता संख्या, आईएफएससी और एमआईसीआर को अच्छे से दुबारा चेक करले |

पांचवी गलती : अपने सभी बैंक खातों की डिटेल न भरना
उपाय : ज्यादातर लोग अपने सभी खातों की देतें देने में परहेज करते हैं ऐसा करना गैर कानूनी हैं और अगर आपने नोटेबंदी के दौरान कैश में कोई लेन देन किया हैं तो उसका भी ब्यौरा आयकर विभाग को जरूर दें |

छठी गलती : अपनी रिटर्न भरते समय टीडीएस के आंकड़ों में गलती करना
उपाय : अगर आप रिटर्न भरते समय अपने टीडीएस के आंकड़ों में गलती करते हैं तो आपकी फाइल अमान्य हो जाएगी | ध्यान रखे की 26 एएस फॉर्म में जो आंकड़े दर्शाये गए हैं वही अपने फॉर्म में भरें |

सातवीं गलती : रिटर्न भरते समय टैक्स से बचने के लिए गलत वित्तीय डाटा देने से बचें
उपाय : रिटर्न के ज्यादातर अमान्य होने का कारण होता हैं की लोगो द्वारा टैक्स से बचने के लिए कम इनकम शो कर दी जाती हैं | अगर आपके पास सैलरी के इलावा कोई इनकम ऑफ़ सोर्स जैसे घर के किराए, कमीशन, डोनेशन, शार्ट टर्म कैपिटल गेंस आदि हैं तो उसकी जानकारी भी फॉर्म में जरूर दें | वित्तीय डाटा देने में बहुत सारी गलतियों की सम्भावना बनी रहती हैं इसलिए आप इसके लिए किसी विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें |

top-10-common-mistakes-while-filling-income-tax-return-3

आठवीं गलती : छूट प्राप्त आय को अपने फार्म में न भरना
उपाय : पहले इनकम टैक्स फॉर्म में आपको छूट प्राप्त आय का सिंगल कॉलम में ब्यौरा देना होता था, लेकिन अब इस नए फॉर्म में डिविडेंड, लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस पर मिलने वाली छूट की आय का ब्यौरा विशेष रूप से भरना होगा |

नौवीं गलती : रिटर्न भरने के लिए गलत फॉर्म का इस्तेमाल करना
उपाय : इस साल आयकर विभाग ने विशेष रूप में बदलाव किये हैं आपको कुल सात फॉर्म देखने को मिलेंगे और आप अपनी आय के हिसाब से उनमे से एक फॉर्म को सेलेक्ट करके भरेंगे | पिछले साल व्यवसाय के जरिये जिन्हें आय होती थी उनके लिए आईटीआर 4 था जबकि इस बार उनके लिए आईटीआर 3 फॉर्म हैं | करदाता को इन बदलावों को ध्यान में रखकर फॉर्म भरना होगा अन्यथा गलती होने पर फॉर्म अमान्य हो जायेगा |

दसवीं गलती : सालाना हुई कुल आय की गणना में गलती
उपाय : अपनी आय की सटीक गणना करने के लिए फॉर्म में दिए सभी कॉलम को ध्यान से भरें और अगर फॉर्म में दिया गया कुल आय का रिजल्ट आपकी गणना से मेल नहीं खाता तो उसे पूर्ण चेक जरूर करें और गलती का सुधार करें |

Facebooktwittergoogle_pluspinterestlinkedintumblrmailFacebooktwittergoogle_pluspinterestlinkedintumblrmailby feather

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *