औंधे मुंह गिरा असदुद्दीन ओवैसी का तीन तलाक़ में संशोधन

0
triple-talaq-bill-passed-in-lok-sabha-by-modi-goverment-1
Loading...

triple-talaq-bill-passed-in-lok-sabha-by-modi-goverment-3

अब तक की बढ़ी खबर यह आ रही है की लोकसभा में मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक, 2017 पेश किया गया था जो की सफलतापूर्वक पास हो गया है | एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस बिल में 3 संसोधन की मांग राखी जो वोटिंग में औंधे मुंह गिर गया |

आपको बताना चाहेंगे की टीम तलाक़ के मुद्दे पर सभी संशोधन प्रस्ताव खारिज हो चुके है और असदुद्दीन ओवैसी के संसोधन के पक्ष की वोटिंग में उनको केवल एक यानी खुद ही वोट मिला | जिसके तुरंत बाद स्पीकर ने भारत में तीन तलाक पर बैन लगाने वाले विधेयक मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक, 2017 के सफलतापूर्वक पास होने की घोषणा कर दी |

आपको बताना चाहेंगे की इस बिल में ख़ास बात यह थी की तीन तलाक़ को दंडनीय अपराध की श्रेणी में रखते हुए तीन साल तक कारावास और जुर्माने का प्रावधान दिया गया है | आपको बताना चाहेंगे की इस बिल को लेकर विपक्षी पार्टियों ने इसका विरोध जताया और इसे पारित न करने की अपील की थी |

लेकिन कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने विधेयक को लेकर ब्यान दिया और भरोसा जताया कि ‘यह धर्म के बारे में नहीं है, बल्कि महिलाओं के आदर व न्याय के लिए है |’ यह बिल तीन तलाक या मौखिक तलाक को आपराधिक घोषित करता है और अपराथ साबित होने पर ज्यादा से ज्यादा 3 साल की सज़ा का प्रावधान है |

triple-talaq-bill-passed-in-lok-sabha-by-modi-goverment-2

आपको बताना चाहेंगे की यह तीन तलाक़ का बिल मुस्लिम महिलाओं को भरण-पोषण व बच्चे की निगरानी का अधिकार देता है | आपको बताना चाहेंगे की आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस बिल को राजीव गाँधी की सरकार के समय फिर से न लाने की मांग कर रही थी लेकिन अब 56 इंच वाला मोदी है |

कुछ हिन्दू कह रहे है की इससे हमारा क्या फायदा हुआ हम कियूं इतना खुश हो रहे है, तो आप समझ लें लव जिहाद के जरिये मुस्लिम लड़के हिन्दू लड़कियों से शादी कर उनका धर्म बदलवा कर मुँह से तलाक़ तलाक़ तलाक़ देकर नई शादी कर लेते थे | इस बिल के बाद ऐसा नहीं हो पायेगा जिससे लव जिहाद पर लगाम लगेगी |

माना की आपके घर की लड़की लव जिहाद में न फसी हो लेकिन नजाने पुरे देश में कितनी मासूम इस चक्कर में फसकर अपनी जिंदगी बर्बाद कर लेती थी और कानून इस पर कोई न्याय नहीं कर पता था | लेकिन अब तीन तलाक़ नहीं दे पायेगा और मुस्लिम युवक को जिंदगी भर साथ निभाना ही पड़ेगा या फिर दोनों की मर्जी के साथ कोर्ट में तलाक़ होगा |

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here