बकवास है गुजरात मॉडल मनमोहन सिंह

0
1-pc-of-society-benefited-from-gujarat-model-manmohan-singh-1

1-pc-of-society-benefited-from-gujarat-model-manmohan-singh-3

पूर्व प्रधानमंत्री कांग्रेस गुलाम मनमोहन सिंह ने गुरुवार को दिए ब्यान में कहा है गुजरात के लोगो ने 22 साल के लम्बे बीजेपी के शाषन काल के दौरान भाजपा को लोगो ने अच्छे से देखा है | उन्होंने गुजरात मॉडल को बकवास बताया और कहा की इससे सिर्फ गुजरात के 1 प्रतिशत लोगो को लाभ मिला है |

कांग्रेस के 12 लाख करोड़ के घोटालों के बीच गूंगा बनने की एक्टिंग कर चुके मनमोहन सिंह ने यह भी कहा है की बीजेपी के अच्छे दिन के वादे मुझे नज़र नहीं रहे और 22 सालों में जितना विकास हो सकता था उसके अनुमान से गुजरात में उतना विकास नहीं हो पाया |

जाहिर सी बात है मनमोहन सिंह ने अमेठी के विकास की तुलना नहीं की वहां से तो कांग्रेस के 3 प्रधान मंत्री जीत चुके है | लेकिन मनमोहन सिंह ने आगे कहा की “कुछ अमीर कारोबारियों को छोड़कर हर समुदाय और वर्ग पिछले 22 साल में भाजपा द्वारा संचालित गुजरात मॉडल की असमानता और नाइंसाफी के खिलाफ अपनी आवाजें उठा रहा है.’’

1-pc-of-society-benefited-from-gujarat-model-manmohan-singh-2

10 साल तक प्रधान मंत्री बनने का नाटक कर चुके मनमोहन सिंह ने यह भी कहा की गुजरात मानव विकास के कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में पिछले 22 साल से पीछे चला गया है | जाहिर सी बात है वहाँ 22 सालों से आतंकी हमले जो नहीं हुए | कांग्रेस के दामादों का विकास कहा से होगा और तो और अहमद पटेल के हॉस्पिटल से दो आतंकी भी बीजेपी ने पकड़ लिए |

मनमोहन सिंह ने कहा अगर गुजरात में कांग्रेस की सरकार बानी तो हम सब बदल कर रख देंगे क्योंकि अभी गुजरात “हरेक सामाजिक सूचकांक पर यह हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु जैसे राज्यों के पीछे है.’’

मतलब यह की तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल जैसे यहाँ पर आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या नहीं हो रही | मनमोहन सिंह ने आगे कहा की ‘‘कांग्रेस पार्टी के पास गुजरात के लोगों के लिए एक दृष्टिकोण है.’’

GST और नोटेबंदी पर अपना ब्यान देते हुए कहा की इस प्रक्रिया में बहुत खामिया थी, ‘‘गुजरात के लोगों ने मोदीजी में जो भरोसा जताया था उसे उन्होंने तोड़ दिया.’’ | हम सरकार से मांग करेंगे की नोटेबंदी और GST के संबधित फाइल्स को जनता के बीच लाया जाये |

1-pc-of-society-benefited-from-gujarat-model-manmohan-singh-4

बैसे आपको बताते की इन्होने नोटेबंदी और GST पर ब्यान दिया था की अब इससे देश को बहुत बड़ा नुक्सान हुआ है जबकि विकास दर भी बड़ा और वर्ल्ड बैंक, मूडीज जैसे इंटरनेशनल कंपनियों ने इसके बाद भारत की बिज़नेस को लेकर रेटिंग में सुथार किया था |

राम मंदिर पर पहले से सिब्बल द्वारा फैलाया रायता देखते हुए उन्होंने इसपर बात नहीं की | लेकिन जम्मू कश्मीर पर कहा की मुझे नहीं पता की बीजेपी की निति से देश को क्या फायदा हुआ | तो चलो हम आपको बताते है, 200 से ज्यादा आतंकी इसी साल मारे गए और लगभग सभी अलगावादी जेल में है, सेना के अनुसार पथरबाज़ो की संख्या में काफी कमी भी आयी है |

लेकिन बात यह है की गुलाम कभी भी अपने मालिक के खिलाफ बोल नहीं सकता, यह न ही तब बोला जब देश का 12 लाख करोड़ कांग्रेस चाट गयी थी और न ही तब बोला था जब मुंबई में आतंकी हमला हुआ था | लेकिन अपने मालिक के डूबते पैसों को देख कर इससे दुःख झेला नहीं जा रहा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 + 18 =