ताज महल को लेकर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा

taj-mahal-built-by-shahjahan-asi-has-no-proof-4

जैसा की बहुत काम लोग जानते है की ताज़ महल को किसी लूटेरे और बलात्कारी शाहजहां ने नहीं बनवाया था बल्कि वो ताज़ महल एक शिव मंदिर था जिसे तेजोमहालय के नाम से जाना जाता था | जिसे अंगेरा ऋषि द्वारा बनवाया गया था आपको बता दे की अंगेरा ऋषि के नाम से ही आगरा शहर का नाम पड़ा था |

बाद में यहाँ पर इस्लामिक कट्टरपंधियों का राज़ हुआ जिसने इस खूसूरत मंदिर की सारी मुर्तिया हटवा दी और इसे कबारगाह बना दिया और नाम दिया ताज़ महल | बाकी सारा काम मुस्लिम इतिहासकारों ने किया जिसमे मजदूरों के हाथ काटना इत्यादि शामिल था |

माना जाता है की आज़ादी के बाद एक अंग्रेज ने ताज महल की सचाई पर एक किताब लिखी थी और बताया था की जो तहखाने सरकार ने सील कर रखे है उनमे हिन्दू देवी देवताओं की मुर्तिया मजूद है | उन तहखानों में ही इस मंदिर की पूरी सचाई मजूद है लेकिन इंदिरा खान उर्फ़ नकली गाँधी ने उस किताब को भारत में आने ही नहीं दिया |

taj-mahal-built-by-shahjahan-asi-has-no-proof-3

पुरातत्व विभाग जिसे आर्किलोजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया ASI भी जिसे कहा जाता है, जब एक RTI डालकर पूछा उनसे पूछा गया की ताज़ महल साहजहां ने ही बनवाया था इसका कोई सबूत मजूद है तो उन्होंने साफ़ साफ़ कह दिया की वैज्ञानिक तौर पर इसका कोई सबूत नहीं है और न ही कोई पुरातत्व से जुड़ा दस्तावेज है |

taj-mahal-built-by-shahjahan-asi-has-no-proof-2

RTI को डालने वाले सख्श का नाम AS संतोष है और उन्ही की वजह से आज आपको यह हैरान कर देने वाली सचाई पता चल रही है | इससे साफ़ जाहिर होता है की हमारे देश का पुरातत्व विभाग ही यह नहीं जानता की ताजमहल सच में लूटेरे बलात्कारी शाहजहां ने बनवाया था |

अगर यह सच होता तो इसका सबूत जरूर होता पुरातत्व विभाग के पास लेकिन सचाई तो यही है की यह इस्लामिक, वामपंथी और सेक्युलर इतिहासकारों की झूठी कहानी है | यह षड़यंत्र सिर्फ इसलिए रचा गया ताकि मुस्लिम लोग हिंदुवो पर झूठा रॉब झाड़ सके की जिन्हे तुम लूटेरा कहते हो इन्होने भारत को इतनी शानदार इमारते दी |

सच तो यह भी है की ग्रैंड ट्रंक रोड और कुतुब मीनार भी मुस्लिमानो की नहीं हिन्दू राजाओं की देन है बस इतिहास को पूर्ण खंगालने की जरुरत है, सच अपने आप बहार आ जायेगा | भारत के आज के मुस्लिम भूतकाल के कायर हिन्दू थे और आज के कायर हिन्दू भविष्य के मुसलमान होंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + 13 =