आरएसएस के कार्यकर्ता बनेंगे त्रिपुरा में मुख्यमंत्री ?

0
biplab-deb-may-be-tripura-bjp-cm-bjp-wins-elections-030318-1

biplab-deb-may-be-tripura-bjp-cm-bjp-wins-elections-030318-2

जैसा की हम सब जानते है त्रिपुरा के इतिहास में बीजेपी पहली बार सत्ता में आयी है और इस जीत का श्रेय सबसे ज्यादा वहाँ आरएसएस के कार्यकर्ता 47 वर्षीय युवा बिप्‍लव देब को दिया जा रहा है | बताया जा रहा है की 2014 में मोदी के प्रधान मंत्री बनने के बाद से ही ही आरएसएस ने लो-प्रोफाइल बिप्‍लव देब को त्रिपुरा भेज दिया था |

त्रिपुरा में जमीनी लोगो से जुड़ने के बाद बिप्‍लव देब का फायदा बीजेपी को यह हुआ की आज से ठीक पांच साल पहले मात्रा 1.5 प्रतिशत वोट हासिल करने वाली बीजेपी को इस बार सत्ता में लाया गया वो भी 40 सीटों के साथ |

आपको बता दे की दक्षिण त्रिपुरा के उदयपुर से ताल्‍लुक रखने वाले बिप्‍लव देब दिल्ली से मास्टर की डिग्री ले चुके है | उसके बाद बिप्‍लव देब दिल्ली में ही प्रोफेशनल जिम इंस्‍ट्रक्‍टर रहे बताया जाता है की 15 साल तक बिप्‍लव देब त्रिपुरा से दूर यानी दिल्ली में रहे |

biplab-deb-may-be-tripura-bjp-cm-bjp-wins-elections-030318-4

2014 में बीजेपी के सत्ता में आते ही राजनीती की लम्बी सोच रखते हुए आरएसएस बिप्‍लव देब को त्रिपुरा भेजा ताकि कोई लोकल चेहरा जमीनी कार्यकर्ताओं को इक्क्ठा करे और लोगों तक बीजेपी की योजनाओ पहुंचाए और लोगो की समस्याओं की और ध्यान दे |

त्रिपुरा ट्राइबल एरियाज ऑटोनोमस डिस्ट्रिक्‍ट कौंसिल चुनावों में इन्होने बीजेपी की तरफ से प्रचार किया और अपनी संगठन क्षमता का परिचय भी दिया | जिसके बाद 2014 में इनके त्रिपुरा में जाने के बाद से धीरे-धीरे बीजेपी के लिए लोगो के दिलों में जगह बननी शुरू हुई जिसके नतीजे आज हम सब देख सकते है |

आपको बता दे की त्रिपुरा का पूरा चुनाव इनके ही अगुवाई में लड़ा गया था | शायद आपको पता न हो लेकिन सात जनवरी, 2016 को बीजेपी ने इनको त्रिपुरा प्रदेश का अध्‍यक्ष घोषित किया था | आपको बता दे की बिप्‍लव ने इस बार अगरतला स्थित बनामालीपुर सीट पर चुनाव लड़कर जीत हासिल की है |

biplab-deb-may-be-tripura-bjp-cm-bjp-wins-elections-030318-3

आपको बता दे की बिप्लव से पहले सुधींद्र दासगुप्‍ता बीजेपी के प्रदेश अध्‍यक्ष रहे और इनकी अध्यक्ष सीमा काफी लम्बे समय तक रही थी, लेकिन पार्टी को इनकी अध्यक्षता से किसी प्रकार का फायदा राज्य में नहीं मिला था जिसके कारण बिप्लव को प्रदेश का अध्यक्ष बनाया गया |

बीजेपी और आरएसएस में कुछ सूत्रों से पता चला है की त्रिपुरा प्रदेश के प्रिय नेता बिप्‍लव देब को ही राज्य का मुख्यमंत्री बनाया जायेगा | लेकिन अभी तक इस बात की पुष्टि बीजेपी या आरएसएस के मुख्य चयनकर्ताओं ने नहीं की है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 2 =