कांग्रेस का 2019 के लिए खतरनाक गेमप्लान

dangerous-gameplan-of-the-congress-for-2019-elections-2

कांग्रेस के नेता अब अच्छी तरह से समझ चुके है की GST नोटेबंदी और मेक इन इंडिया जैसे मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरा नहीं जा सकता | हालात तो यह है की कांग्रेस मोदी सरकार पर घोटाले और भर्ष्टाचार के मुद्दे पर भी नहीं घेर सकती क्योंकि वो हुए ही नहीं |

अगर हम बात करे EVM की तो जनता जान चुकी है जब चुनाव आयोग ने खुली चुनौती दी थी तब कोई भी सवाल उठाने वाला हैक करने को त्यार नहीं था | अगर घोटाले का कोई आरोप विपक्ष लगाता भी है तो उसका सच कुछ ही दिनों में बाहर आ जाता है की यह सिर्फ झूठ था |

कांग्रेस को पता है इस बार मुस्लिम महिलाएं कांग्रेस को वोट नहीं देंगी (तीन तलाक़ पर कांग्रेस के समर्थन के चलते) और अकेले मुसलमान पुरषों से वोट हासिल करके उनको कोई फायदा नहीं है | इसलिए कांग्रेस हिंदुवो को जातियों में बाँट रही है |

गुजरात में 2014 के बाद दलित OBC और पटेलों का अलग अलग नेता बना और इलेक्शन आते ही इन तीनो ने कांग्रेस को समर्थन दे दिया मतलब साफ़ था की यह तीनो कांग्रेस के ही मोहरे थे | लेकिन कांग्रेस को पता चल चूका है की हिन्दू अब एक हो रहा है, इसको धर्म के आधार पर बांटके मुर्ख नहीं बनाया जा सकता |

dangerous-gameplan-of-the-congress-for-2019-elections-4

इसलिए अब कांग्रेस नेता हिन्दू ही नहीं जनेऊधारी हिन्दू बनने का नाटक कर रहे है | उनको पता है बीजेपी मुसलमानो के लिए कुछ भी कर दे लेकिन मुसलमान बीजेपी को वोट नहीं करेंगे और महिला मुस्लिम वोटर्स की कमी को जातिवाद नेता पूरा कर देंगे |

2019 में यह तो पक्का है की सारी गैरभाजपा पार्टीज मिल कर चुनाव लड़ेंगी यानि महा गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ेंगी इस बार मुस्लिम महिलाओं का समर्थन बीजेपी को है और पुरे देश में मुस्लिम आबादी लगभग 25 प्रतिशत है, अगर हम मानले 10 से 12 प्रतिशत मुस्लिम वोट बीजेपी के है तो कांग्रेस को 13 से 15 प्रतिशत वोट मुसलमानो के प्राप्त होंगे |

अब कांग्रेस इस कमी को पूरा करने के लिए जातिवादी नेता पहले से खड़े कर चुकी है तो वो नेता इनको 10 से 15 प्रतिशत वोट लाकर दे सकते है | भारत में 30 प्रतिशत से ज्यादा वाला ही चुनाव जीतता है, 2014 में बीजेपी को 31 प्रतिशत ही वोट मिले थे | लेकिन इन वोटों के बाद भी कांग्रेस के महागठबंधन का जीतना मुश्किल है |

dangerous-gameplan-of-the-congress-for-2019-elections-3

इसलिए अब पुरे हिन्दू समाज को बेवकूफ बनाने के लिए जनेऊधारी ब्राह्मण कट्टर हिन्दू बनने का नाटक किया जा रहा है | अपने देखा होगा राहुल का ख़ास सिंधिया और दिग्विजय भगवा लहरा रहे थे महाराष्ट्र में, हिन्दू को आतंकवादी और हिन्दू धर्म का मजाक उड़ाने वाले यह कांग्रेसी अचानक हिन्दू प्रेमी बन गए |

मतलब साफ़ है अगर मुसलमान थोड़ा बहुत नाराज़ होता है तो होने दो लेकिन इस बार हिंदुवो का ध्यान अपनी और आकर्षित करो उनसे वोट लो, चाहे उसके लिए मंदिरों में जाना पड़े, पूजा पाठ करना पड़े, कृष्ण भगवान् की मुर्तिया बनानी पड़े आदि |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × two =