गुजरात रैली में राहुल गाँधी को पड़ा जूता

0

gujrat-rally-congress-leader-rahul-gandhi-3

राहुल गाँधी एकलौते ऐसे नेता है जिसे उनकी पार्टी के कार्य करता देश का प्रधान मंत्री बनते देखना चाहते है और वही दूसरी तरफ हमारे देश वासी उनको मनबुद्धि (पप्पू) के नाम से बुलाते है | लोग उनके भाषण में राजनीती बदलाव के लिए नहीं बल्कि खाट उठाने के लिए जाते है |


मीडिया से बात चीत करते हुए अक्सर वो अपनी लाइन्स भूल जाते है और वह से भाग जाते है | उनके भाषण सुनते वक़्त आपको भाषण काम कॉमेडियन ज्यादा लगेंगे | देश के लोग तो यहाँ तक कह देते है की अगर इनके नाम के आगे गाँधी न लगा होता तो कोई इनको चपरासी की भी नौकरी न देता |

अभी कुछ समय पहले की बात है जब गुजरात में एक रैली के दौरान राहुल गाँधी को सुसु लग गयी थी और वो बच्चों की तरह जल्दी जल्दी में लेडीज टॉयलेट में चले गए थे | सबसे हास्य भाषण उनका जो है वो “गुजरात को दूध, गुजरात की महिलाओं ने दिया है” |

gujrat-rally-congress-leader-rahul-gandhi-1

वैसे तो मेक इन इंडिया को हमेशा बुरा भला और बेकार योजना मानते है लेकिन अपने हर भाषण में मेक इन इंडिया का प्रचार भी करते है जैसे हिमाचल की रैली में कहा था “अगर चीन का युवा अपनी सेल्फी ले तो मोबाइल के पीछे लिखा हो मेड इन हिमाचल” |

लेकिन अब इनको क्या पता किसी भी समान के पीछे मेड इन “कंट्री” का नाम होता है स्टेट का नहीं | ऐसे की कुछ एक दो दिन पहले राहुल गाँधी नोटेबंदी के विरोध में गुजरात के व्यापारियों से मिलने के लिए गए |

gujrat-rally-congress-leader-rahul-gandhi-2

लेकिन गुजरात के व्यापरियों में नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिया | मीडिया से बात चीत में कुछ व्यापारियों ने कहा हम नाराज़ जरूर है लेकिन गद्दारों को फिरसे सत्ता में आने नहीं देंगे | वही कुछ का कहना था की परेशानी जरूर हुई थी लेकिन धीरे धीरे कारोबार में तेज़ी आ रही है |

यह एक तरह का भीगा हुआ जूता था जो व्यापारियों ने राजनीतिक रोटियां सेंकने वाले राहुल गाँधी के मुँह पर मारा है | देश के लोगो को पता है जब 10 साल में 12 लाख करोड़ के घोटालों से देश बर्बाद नहीं हुआ तो GST और नोटेबंदी से तो फिर भी पैसा तिजोरियों से बैंको तक पहुंचा है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 2 =