म्यांमार की तर्ज पर लद्दाख में इस्लाम के खिलाफ बिगुल

0
ladakh-on-the-ways-of-myanmar-2

ladakh-on-the-ways-of-myanmar-1

लद्दाख बौद्ध एसोसिएशन (एलबीए) जम्मू कश्मीर में माजूदा पीडीपी और बीजेपी गठबंधन वाली सरकार के खिलाफ अपनी आवाज़ उठाने का फैसला किया है | उन्होंने तो देश के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से भी संपर्क करने का फैसला किया है ताकि बौद्धों और मुसलमानों के बीच बढ़ रहे विवाद को काम किया जा सके |


पिछले कुछ समय पहले एक 30 वर्ष की महिला ने 32 वर्ष के शिया मुस्लिम के लिए अपना बौद्ध धर्म छोड़ कर मुस्लिम धर्म अपना लिया था | शीर्ष एलबीए अधिकारी पी टी कोंजांग ने मीडिया से बात चीत के दौरान बताया की एक बौद्ध प्रतिनिधिमंडल की माजूदा स्थिति के बारे में अवगत कराने के लिए प्रधान मंत्री जी से समय की मांग की है |

लद्दाख में सबसे बड़ी समस्या यह है की यहाँ बौद्धों की आबादी 51 प्रतिशत है और मुस्लिम आबादी लगभग 49 प्रतिशत और बौद्ध प्रतिनिधिमंडल का कहना है की सरकार मिशनरी वालो पर ध्यान नहीं दे रही जिसके चलते बौद्धों का धर्म परिवर्तन हो रहा है और लव जिहाद के चलते बौद्ध लड़किया मुस्लिम बन रही है |

ladakh-on-the-ways-of-myanmar-3

कुनजांग ने कहा इस लव जिहाद और मिशनरी के कारण बौद्ध धर्म के लोगो को दोहरी मार पड़ रही है | हम हथ्यार उठाना नहीं चाहते लेकिन सरकार को हमारी स्थिति साफ़ करनी होगी | हम अपने खून की आखिरी बूँद तक का इस्तेमाल अपने धर्म के खिलाफ हो रहे इस षड्यंत्र को ख़त्म करने के लिए करेंगे |

आपको बता दे की लद्दाख के दो जिले लेह और कारगिल शामिल है और यहां पर कुल जनसँख्या लगभग 2 लाख 74 हजार है | इनमे से लगभग 51 प्रतिशत की आबादी बौद्ध धर्म को मानने वाली है और 49 प्रतिशत आबादी मुस्लिम धर्म की की है | मुसलमानो का कहना है की यह धर्म परिवर्तन एक तरफ़ा नहीं है मुस्लिम लड़किया भी बौद्धों से शादी करती है |

ladakh-on-the-ways-of-myanmar-4आपको जानकार हैरानी होगी की यह तनाव पहली बार नहीं है 1989 में भी लदाख के लोगो को बौद्धों और मुस्लिमानो के बीच हुए भयंकर दंगों का सामना करना पड़ा था | 1992 में बौद्ध धर्म के लोगो को एलबीए ने मुसलमानो का सामाजिक और आर्थिक बहिष्कार करने को कहा था जिसे बाद में हटा लिया गया था |

सरकार इस तनाव को दूर करने के लिए क्या कदम उठाती है यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा | लेकिन एक बात तो साफ़ है मुस्लिम लोग दुनिया के किसी भी धर्म के लोगो के साथ शांतिप्रिय तरीके से नहीं रह सकते | चीन इन मामलों में अच्छा है लात भी मारता है काम भी करवाता है और यह लोग तलवे भी उसी के चाटते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − one =