आम आदमी पार्टी से ज्यादा लोगो को पसंद आया NOTA

more-nota-votes-than-aap-and-bsp-in-gujarat-2

इस बार गुजरात विधानसभा के चुनाव सबसे महत्वपूर्ण रहे, इस बार EVM पर बने NOTA बटन का लोगो ने खुलकर इस्तेमाल किया | आपको बताना चाहेंगे की जितने वोट आम आदमी पार्टी, एनसीपी और बीएसपी जैसी पार्टियों को भी नहीं मिले उससे ज्यादा लोगो ने नोटा का बटन दबा दिया |

NOTA का बटन इसलिए होता है की मतदाता बता सके की चुनाव में पार्टियों द्वारा उतारा गया उमीदवार उनका प्रतिनिधि बनने के लायक ही नहीं है | गुजरात विधानसभा चुनाव में 5,51,294 मतदाताओं ने इस बटन का उपयोग किया है |

क्योंकि 2012 में NOTA बटन नहीं था तो इसलिए तुलना करने के लिए आप 2014 का लोकसभा चुनाव देख सकते है | 2014 लोकसभा चुनाव में 4.2 लाख मतदाताओं इस बटन का उपयोग किया था |

इस विधानसभा चुनाव में NOTA का वोट शेयर 1.8 प्रतिशत रहा है लेकिन एक असेम्बली इलेक्शन के लिहाज से कोई सामान्य बात नहीं है | चुनाव आयोग ने बताया की NOTA की कुल वोट से प्रतिशत 0.8 से 3 के बीच में रह सकती है |

more-nota-votes-than-aap-and-bsp-in-gujarat-3

गुजरात विधानसभा में जहा पर आम आदमी पार्टी, एनसीपी और बीएसपी ने 29 सीटों पर अपने उमीदवार उतार कर 29 हजार 517 वोट हासिल किये वही 29 सीटों पर 75 हजार 880 लोगों NOTA का बटन दबा दिया | नोटा का बटन इन पार्टियों से 2.5 फीसदी अधिक वोट ले गया |

गुजरात विधानसभा में NOTA बटन की अहमियत इसलिए ज्यादा बढ़ जाती है क्योंकि यहाँ पर सफल रहे उम्मीदवार बहुत ही काम वोटों से जीते है | जैसे कपराडा असेंबली सीट पर कांग्रेस के जीतूभाई चौधरी ने बीजेपी के मधुभाई राउत को 170 वोटों से चित किया है लेकिन यहाँ पर भी NOTA बटन को 3868 वोट हासिल हुए है |

22 साल के एक ही सरकार राज बाद गुजरात में सत्ता विरोधी लहर थी लेकिन कांग्रेस इस चुनाव को ठीक तरह से भुना नहीं पायी | चुनाव में उतारे गए उमीदवारो को वोट देने से ज्यादा लोगो ने नोटा का इस्तेमाल करना बेहतर समझा |

आपको बताना चाहेंगे की 2013 में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर NOTA बटन दिया गया था, इसका पहली बार इस्तेमाल छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, दिल्ली और मिजोरम में हुआ था, जहा पर इसका पहली बार का वोट शेयर 1.85 प्रतिशत रहा था |

Rizel News

We Provide Political News, Bollywood Masala, Sports News, Health Related Tips, Mythological Stories, Science & Technology Related Updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 4 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.