34 विधायकों के साथ मेघालय में सरकार बनाएगी बीजेपी

0
npps-conrad-sangma-to-be-the-new-cm-of-meghalaya-040318-1
Loading...

npps-conrad-sangma-to-be-the-new-cm-of-meghalaya-040318-5

मेघालय में बीजेपी को भले ही 2 सीट मिली हो और कांग्रेस को 19 सीट हासिल हुई हो लेकिन कांग्रेस को 19 सीट मिलने के बावजूद सरकार बीजेपी बनाने में कामयाब नज़र आ रही है | एनपीपी अध्यक्ष कोनराड संगमा मेघालय के नए मुख्यमंत्री घोषित कर दिए है |

आपको बता दे की बीजेपी, एनपीपी और यूडीपी के नेताओं के राज्यपाल गंगा प्रसाद से मुलाक़ात करके सरकार बनाने का दावा ठोक दिया है | इन तीनो पार्टियों के गढ़बंधन से कुल 34 MLA बनते है जबकि सरकार बनाने के लिए केवल 31 MLA चाहिए थे |

राजयपाल के पास अपनी सरकार बनाने का दावा ठोकने के बाद मीडिया से बात करते हुए कोरनाड संगमा ने बताया की अगले दो दिन बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होंगे क्यूंकि इस समय में विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने वाला है |

npps-conrad-sangma-to-be-the-new-cm-of-meghalaya-040318-4

आपको बता दे की मेघालय में 7 मार्च को विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो जाएगा और इससे ठीक पहले ज्यादा MLA के साथ सरकार का गठन करना जरुरी है | उन्होंने कहा की कल शाम तक आप सभी मीडिया वालों को सारी जानकारी दी जाएगी |

गठबंधन की सरकार चलाना कभी भी आसान काम नहीं होता, अलग अलग पार्टियों के अलग अलग विचार और काम करने की क्षमता को एक साथ इस्तेमाल करना बहुत मुश्किल काम होता है | लेकिन मुझे उम्मीद है की गढ़बंधन में आने के बाद सरकार में हर कोई राज्य की प्रगति के लिए अपना एहम योगदान अदा करेगा |

उधर कांग्रेस ने मेघालय के राज्यपाल को पत्र सौंपते हुए मुकुल संगमा को विधानसभा का नेता बता दिया है | वही बीजेपी नेता हेमंत बिस्व सरमा ने स्पष्ट किया है की मेघालय में किसी भी नेता को उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया जाएगा और गढ़बंधन में जुडी पार्टियों के 2 में से एक MLA को मंत्री पद दिया जाएगा |

npps-conrad-sangma-to-be-the-new-cm-of-meghalaya-040318-2

इस फॉर्मूले से साफ़ होता है की मेघालय में 2 सीट हासिल करने वाली बीजेपी का एक MLA किसी न किसी मंत्री पद की सपथ लेगा | कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए अपने मंत्रियों की न्युक्ति में समय बर्बाद किया | उसने तीन वरिष्ठ नेताओं कमलनाथ, अहमद पटेल और सीपी जोशी को मेघालय सरकार बनाने का जिम्मा सौंपा और हशर गोवा जैसा हुआ |

ऐसे तो कांग्रेस ने आज़ाद बहरत के इतिहास में 1 1 सीट से विरोधी सरकार गिरायी है लेकिन मोदी सरकार आने के बाद कांग्रेस के हर दाव-पेच फ़ैल होते नज़र आ रहे है | 59 सीटों में से 21 सीटों पर कांग्रेस ने कब्जा था सरकार बनाने के लिए 10 MLA का साथ चाहिए था और BJP को 29 MLA का लेकिन BJP 29 MLA का साथ पाने में कामयाब रही |

मौजूदा स्थिति में कांग्रेस के पास पुरे देश में अब 2 राज्य बचे है जिसमे से एक और राज्य में आने वाले वक़्त में चुनाव है और बीजेपी की स्थिति मजबूत नज़र आ रही है | यह आज़ाद बहरत के इतिहास में पहली बार होगा की कांग्रेस केवल एक राज्य में सरकार चलाएगी |

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 1 =