GDP के आंकड़ों ने नकली अर्थशास्त्री रोबोट की खोली पोल

quarterly-figures-of-indian-gdp-have-come-2

आपको जानकार ख़ुशी होगी की जीडीपी के आंकड़ों ने कांग्रेस के पढ़े लिखे अर्थशाष्त्री रोबोट के मुँह पर जोरदार जूता मारा है | भारतीय जीडीपी के आंकड़ों के साफ़ हो गया है की मनमोहन सिंह सिर्फ नाम के अर्थशाष्त्री है ना की किसी काम है, क्योंकि RBI गवर्नर और प्रधानमंत्री रहने के दौरान भारतीय रूपया 35 रूपए के लगभग डॉलर के मुकाबले निचे आया है |

भारतीय जीडीपी अब 50 सालों के लिए अन्धकार में जा चुकी है कहने वाले कांग्रेस के नेता अब इटली की बार डांसर के पल्लू के पीछे मुँह छुपाये बैठे है | भारतीय जीडीपी के यह इस बार के तिमाही आंकड़े उम्मीद से बहुत ज्यादा अच्छे है |

जीडीपी के आंकड़े 5.7 से सीधा 6.3 हो गयी है यह भारतवासियों के लिए अच्छी खबर है और देशविरोधी, देशद्रोहियों के लिए बुरी खबर | पिछले साल 8 नवंबर को नरेंद्र मोदी जी ने नोटेबंदी और इस साल GST लगाने के बाद जीडीपी की रफ़्तार काम जरूर हुई थी लेकिन हमेशा के लिए अन्धकार में नहीं गयी थी |

इस रुकावट का इस्तेमाल कांग्रेस गुजरात और हिमाचल चुनाव में कर रही थी, हिमाचल पर इस बार कांग्रेस ने ज्यादा जोर नहीं दिया, लेकिन गुजरात में कपडा उद्योग और हीरा व्यापरियों का ध्यान इसी रुकावट और मुश्किलों से कांग्रेस खींचना चाहती थी |

quarterly-figures-of-indian-gdp-have-come-3

जहा नोटेबंदी और जीडीपी को लेकर कांग्रेस का रोबोट और उसके चाटुकार नेता मोदी को कोस रहे थे, वही वर्ल्ड बैंक, मूडी जैसे बड़ी कम्पनिया उनके इस काम की सराहना कर रही थी | वर्ल्डबैंक की माने तो आने वाले समय में इन दो फैसलों के चलते भारतीय जीडीपी 10 से ऊपर रहेगी और अगर ऐसा हुआ तो 2040 तक भारत चीन को आर्थिक तौर पर पीछे छोड़ देगा |

यही नहीं बल्कि भारत पुरे दुनिया की सबसे ज्यादा इकोनॉमी वाली ताक़त बन जायेगा | GST और नोटेबंदी के बाद लाखो लोग टैक्स देने वाली जनसँख्या में आये, वही 3 लाख के आस पास नयी कम्पनिया अभी तक रजिस्टर हुयी |

टैक्स बचाने के चलते 1 करोड़ से ज्यादा लोगो ने PF खाते बैंको में खोले | नोटेबंदी और GST के बाद कंपनी रजिस्टर करना और व्यापार करना बहुत आसान बन गया है, लेकिन टैक्स चोरों के लिए नहीं क्योंकि अब उनको एक एक पाई का हिसाब देना होगा |

इससे ईमानदारी से जो अपना व्यापार करना चाहते थे अब उनको तमाम तरह के टैक्स सिस्टम से छुटकारा मिल गया है जिससे भारत में अब “EASE OF DOING BUSINESS” का सपना सच हुआ है |

नोटेबंदी और GST के भारत को मूडी रेटिंग में 130 से सीधा 100 पर आ गया है और अब तो वर्ल्ड बैंक ने भी भारत में बिज़नेस की रेटिंग को सुधार दिया है | अब इससे भारत में निवेश बढ़ेगा जिससे और कम्पनिया भारत में आएंगी या नई कम्पनिया भारत में बनेंगी जिससे सीधा सीधा रोजगार पैदा होगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 − twelve =